Home Nation West Bengal – गौ तस्करी के मामले में टीएमसी के सांसद और...

West Bengal – गौ तस्करी के मामले में टीएमसी के सांसद और बांग्ला फिल्म अभिनेता देव को तलब के बाद अब सीबीआई ने बीरभूम के टीएमसी के ‘हैवीवेट’ नेता अनुब्रत मंडल को किया तलब

327
0

पश्चिम बंगाल में प्रस्तावित नगरपालिका चुनाव (Bengal Municipal Election) के पहले फिर सीबीआई (CBI )सक्रिय हो गई है. गौ तस्करी के मामले में टीएमसी के सांसद और बांग्ला फिल्म अभिनेता देव को तलब करने के बाद अब सीबीआई ने बीरभूम के टीएमसी के ‘हैवीवेट’ नेता अनुब्रत मंडल (TMC Leader Anubrata Mondal) को 14 फरवरी को तलब किया है. पिछले हफ्ते, कलकत्ता उच्च न्यायालय ने मतदान के बाद हिंसा मामले में अनुब्रत मंडल को सुरक्षा प्रदान की थी. फिलहाल सीबीआई उनके खिलाफ कोई कठोर कार्रवाई नहीं कर पाएगी, लेकिन इस बार सीबीआई ने अनुब्रत मंडल को मवेशी तस्करी में तलब किया गया है. गुरुवार को अनुब्रत मंडल को नोटिस गया. उन्हें 14 फरवरी को कोलकाता में सीबीआई कार्यालय निजाम पैलेस में बुलाया गया है.

पशु तस्करी के लिए सीबीआई द्वारा अनुब्रत मंडल को जारी किया गया यह दूसरा नोटिस है. इससे पहले उन्हें पिछले अप्रैल में तलब किया गया था, लेकिन उन्होंने यह कहते हुए हाजिर नहीं हुए थे कि वह बीमार हैं. हालांकि चुनाव के बाद की हिंसा के मामलों में सुरक्षा है, लेकिन पशु तस्करी में कोई सुरक्षा नहीं है. बता दें कि सीबीआई ने अनुब्रत मंडल को पशु तस्करी पर नोटिस भेजा था. उस समय बंगाल में विधानसभा चुनाव थे. 29 अप्रैल को मतदान था.सीबीआई ने अनुब्रत को 28 अप्रैल तक पेश होने को कहा था. इस बात को लेकर खुद तृणमूल नेता ममता बनर्जी मुखर हुई थीं. उसने दावा किया था कि सत्तारूढ़ दल पर दबाव बनाने के लिए केंद्रीय जांच एजेंसियों को एक उपकरण के रूप में इस्तेमाल किया जा रहा है.

27 फरवरी को बोलपुर में पांच नगरपालिकाओं में है चुनाव

बोलपुर में रहते हैं अनुब्रत मंडल, हैं टीएमसी के हैवीवेट नेता

फोटोः सीबीआई ने टीएमसी ते हैवीवेट नेता अनुब्रत मंडल को किया तलब.

अनुब्रत मंडल बोलपुर में रहते हैं, लेकिन सीबीआई उन्हें दुर्गापुर बुला रही है. चूंकि अनुब्रत मंडल मामले में गवाह नहीं है, इसलिए उच्च न्यायालय ने कहा है कि सीबीआई ने उसके खिलाफ कोई सख्त कार्रवाई नहीं करें. उधर, टीएमसी अभिनेता-सांसद देव को पशु तस्करी के एक मामले में 15 फरवरी को तलब किया गया है. सीबीआई सूत्रों के मुताबिक, देव ने 2017-18 में पशु तस्करी के मुख्य आरोपी इनामुल हक से कई लाख नकद और एक घड़ी समेत कई उपहार लिए थे. सीबीआई सूत्रों के मुताबिक इस बात की जानकारी एनामूल ने खुद सीबीआई को दी थी। देव को उस स्रोत से पेश होने के लिए कहा गया है.

Previous articleपशु पालकों तथा मत्स्य पालकों के क्रेडिट कार्ड – इन्दौर जिले में 15 फरवरी तक 11 हजार किसान क्रेडिट कार्ड बनाने का लक्ष्य
Next articleलता मंगेशकर के नाम पर नेपाल में पुरस्कार स्थापना

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here