Home Religion सैफी ने बनाया हिन्दू युवती को Love Jihad का शिकार… गौ मांस...

सैफी ने बनाया हिन्दू युवती को Love Jihad का शिकार… गौ मांस खाने करता था प्रताड़ित

489
0

एक लव जिहाद की ऐसी हे खबर चक्रधरपुर से सामने आई है, जहाँ दिल्ली की एक युवती को सैफी नाम के युवक ने पहले अपने प्रेम जाल में फंसाया और शादी का झांसा देकर कुकर्म करने लगा और फिर वह लड़की को धर्मान्तरण के लिए मजबूर करने लगा, उसे प्रतिबंधित मांस खाने के लिए प्रताड़ित किया जाता था, जानवरों जैसा सलूक किया जाता था, हाथ के बंधे कलावे को हटाने कहता था, पूरे मामले का खुलासा कोर्ट में हुआ

GBB DESK – लव जिहाद के मामले रुकने का नाम नहीं ले रहे है। हिन्दू युवती को झांसे में लेकर प्यार का ढोंग रचाने वाले जिहादी पर पुलिस नकेल कसने में नाकाम साबित हो रही है। तभी तो लव जिहाद के इतने मामले लगातार सामने आ रहे हैं। पहले प्यार के झांसे में फंसाकर, फिर बहला फुसलाकर शादी का झांसा देकर शारीरिक कुकर्म करना, और फिर धर्मान्तरण करवाकर लड़की के साथ अभद्रतापूर्ण व्यवहार करना यह साबित करता है की यह एक बड़ा षडियंत्र है जो कट्टरपंथी और जिहादी मानसिकता के तहत अंजाम दिया जाता है।

एक लव जिहाद की ऐसी हे खबर चक्रधरपुर से सामने आई है, जहाँ दिल्ली की एक युवती को सैफी नाम के युवक ने पहले अपने प्रेम जाल में फंसाया और शादी का झांसा देकर कुकर्म करने लगा और फिर वह लड़की को धर्मान्तरण के लिए मजबूर करने लगा, उसे प्रतिबंधित मांस खाने के लिए प्रताड़ित किया जाता था, जानवरों जैसा सलूक किया जाता था, हाथ के बंधे कलावे को हटाने कहता था, पूरे मामले का खुलासा कोर्ट में हुआ।

दरअसल युवक चक्रधरपुर शहरी क्षेत्र से है, जबकि 24 वर्षीय युवती दिल्ली के प्रेम विहार करावल नगर की रहने वाली है। लव जिहाद की शिकार युवती ने बताया कि चक्रधरपुर थाना क्षेत्र के मुजाहिद नगर निवासी मोहम्मद फिरोज का पुत्र जावेद अख्तर उर्फ जाविद सैफी दिल्ली में उसके मोहल्ले में ही टेंट हाउस में लाइटिंग का काम करता था। इसी बीच युवक ने गरीब दलित परिवार की बेटी को सुनहरे सपने दिखाकर अपने प्रेमजाल में ऐसा फंसा लिया कि युवक के दूसरे धर्म से होने के बावजूद उसके साथ निकाह के लिए परिवार को छोड़कर दिल्ली से चक्रधरपुर आ गई।

यहां युवक के घर में लड़की पर धर्मांतरण के लिये दबाव बनाया जाने लगा। युवती गोपाष्टमी, ठाकुर जी पूजा करती है और 16 सोमवार कर व्रत रखती है, लेकिन यहां उसकी कलाई में बंधा कलेवा को उतारने और निकाह के बाद प्रतिबंधित मांस खाने के लिए प्रताड़ित किया गया। गुमराह हुई युवती ने सबक ले लिया है और अपने परिवार के पास जाना चाहती है। कमलदेव गिरि एवं गिरिराज सेना युवती को रांची से फ्लाइट से दिल्ली भेजने की तैयारी कर रहा है। युवती ने बताया कि परिवार से बातचीत हुई है। माता हार्ट की मरीज हैं। इस घटना की जानकारी मिलने के बाद मां को फिर अटैक आया है। वहीं पिताजी शुगर के मरीज हैं।

वहीं गिरिराज सेना ने बिना पुलिस की मदद के अपने स्तर से मामले को सुलझाते हुए युवती को सकुशल उसके परिवार तक पहुंचाने का फैसला लिया है। चक्रधरपुर स्थित न्यायालय में घोषणा पत्र देने को 9 फरवरी को युवक युवती एवं गवाहों को लेकर पहुंचा था। जबकि गिरिराज सेना चक्रधरपुर के कमलदेव गिरि भी किसी काम से कोर्ट आए थे। कमलदेव को देखकर युवक, गवाह और अन्य लोग भाग गए। युवती से कमलदेव ने पूछताछ की तो उसने आपबीती सुनाई और चंगुल से बचाने की गुहार लगाई। युवती को काफी भरोसा दिलाने के बाद वह कमलदेव के परिवार के साथ रहने को तैयार हुई।

Previous articleUttarakhand election: उत्तराखंड में बोले पीएम- कांग्रेस होती तो योजनाओं के राशि का घोटाला कर देती
Next articleपशुपालन और पशुओं के लिए काम कर रही मुंबई लीगल टीम की एक और उपलब्धि नियम 4 के २०१७ अनुपालन के लिए भेजा था कानूनी नोटिस मिली सफलता

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here