Home Gau Samachar गौ-तस्करी के खिलाफ कानून को कड़ाई से लागू करने की मांग

गौ-तस्करी के खिलाफ कानून को कड़ाई से लागू करने की मांग

गौ-तस्करी के खिलाफ कानून को कड़ाई से लागू करने की मांग - बजरंग दल और विहिप के सदस्यों ने डीसी को सौंपा ज्ञापन

260
0

लोहरदगा : बजरंग दल सह संयोजक सचिन कुमार के नेतृत्व में एक प्रतिनिधिमंडल ने डीसी डा. वाघमारे प्रसाद कृष्ण से मुलाकात कर ज्ञापन सौंपा। जिसमें विश्व हिंदू परिषद के विभाग मंत्री लाल ओंकार नाथ शाहदेव, नगर अध्यक्ष चंदन गोयल, अखाड़ा प्रमुख रोहित साहू, नगर सह संयोजक राज साहू, सदस्य सत्यम कुमार शामिल थे। झारखंड गोवंश पशु हत्या निषेध अधिनियम 2005 को सख्ती से लागू करने को लेकर मांग की गई।

ज्ञापन में कहा गया कि झारखंड की राजधानी रांची के तुपुदाना ओपी क्षेत्र में जांबाज महिला पुलिस अधिकारी संध्या टोपनो अपने कर्तव्य को पालन करते हुए गौ माता की रक्षार्थ वीरगति को प्राप्त हो गई। एक महिला पुलिस अधिकारी को गौ-तस्करों के हाथों हत्या राज्य के कानून व्यवस्था पर प्रश्नचिन्ह लगाता है। वहीं घटना ने साबित कर दिया गया कि प्रदेश में गौ तस्करों के हौसले कितने बुलंद हैं। तस्करों द्वारा सिर्फ हिंदू आस्था पर चोट नहीं पहुंचाई जा रही , बल्कि अपितु गौ तस्करी से देश की आंतरिक सुरक्षा को भी गंभीर खतरा है। ज्ञापन में मांग करते हुए कहा गया कि गौ माता की रक्षा करते हुए वीरगति प्राप्त करने वाली वीरांगना संध्या टोपनो को शहीद का दर्जा दिया जाए।

गौ तस्करी के नेटवर्क में शामिल सभी गौ तस्करों को अविलंब गिरफ्तार कर फास्ट ट्रैक कोर्ट द्वारा कड़ी से कड़ी सजा दिलाई जाए। सिमडेगा-गुमला-रांची, पलामू-लोहरदगा-रांची, चतरा-हजारीबाग-धनबाद, जीटी रोड, पाकुड़ सहित झारखंड के कई मार्गो से गौ तस्करी का धंधा चलता है। इन मार्गों पर कड़ी सुरक्षा व्यवस्था किया जाए, जिससे गौ तस्करी पर रोग लगाई जा सके। झारखंड प्रदेश में झारखंड गौवंशीय पशु हत्या निषेध अधिनियम 2005 को सख्ती से लागू किया जाए।

Previous articleCow Urine: गौ-मूत्र खरीदी करने वाला देश का पहला राज्य बना छत्तीसगढ़, सीएम भूपेश बघेल बने पहले विक्रेता
Next articleगौ तस्करों से एनकाउंटर- हरियाणा में पुलिस की भूमिका में गौरक्षक

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here