Home State मेवात में गौ तस्करों ने किया पुलिस टीम पर हमला हसीन गिरफ्तार...

मेवात में गौ तस्करों ने किया पुलिस टीम पर हमला हसीन गिरफ्तार 1 दर्जन लोगों पर केस दर्ज

387
0

मेवात के फ़िरोज़पुर झिरका थाना क्षेत्र में हसीन नाम के गौ तस्कर के घर दबिश के दौरान पुलिस को दौड़ा लिया। पुलिस के ऊपर किये गए पथराव में एक होमगार्ड गंभीर रूप से घायल हो गया है। पथराव के कारण पुलिस की गाडी को भी काफी नुकसान पहुँचा है। पुलिस ने हसीन नाम के एक गौ तस्कर को गिरफ्तार कर लिया है।

हिन्दू धर्म में गौ माता को पूजा जाता है गाय को माता का दर्जा दिया गया है। लेकिन अभी भी कुछ राज्यों में गौ वंश की हत्या कर, गौ वंश के मांस की भारी मात्रा में तस्करी का सिलसिला जारी है। आए दिन कहीं न कहीं से गौ वंश के मांस की तस्करी का मामला सामने आता रहता है। ऐसी एक गौ तस्करी की खबर हरियाणा से सामने आ रही है। आपको बता दें कि हरियाणा के मेवात जिले में गौ तस्कर को पकड़ने गई पुलिस टीम पर गौ तस्करों ने हमला बोल दिया।

मेवात के फ़िरोज़पुर झिरका थाना क्षेत्र में हसीन नाम के गौ तस्कर के घर दबिश के दौरान पुलिस को दौड़ा लिया। पुलिस के ऊपर किये गए पथराव में एक होमगार्ड गंभीर रूप से घायल  हो गया है। पथराव के कारण पुलिस की गाडी को भी काफी नुकसान पहुँचा है। पुलिस ने हसीन नाम के एक गौ तस्कर को गिरफ्तार कर लिया है। 

एक रिर्पोट के मुताबिक पुलिस ने मुखबिर की सूचना पर तौफीक नाम के गौ तस्कर की घेराबंदी की। उसको साकरस से चितौड़ा जाने वाले रास्ते से गिरफ्तार किया गया। उसके पास से बाइक पर भारी मात्रा में  बोरियों में बंद गौ वंश का माँस बरामद हुआ। तौफीक ने पूछताछ के दौरान एक अन्य आरोपी हसीन का नाम लिया। हसीन पर तौफीक को मीट बेचने का आरोप था। साथ ही पकड़े गए आरोपित ने मुन्ना, आमीन, सद्दाम और फारुख का भी नाम लिया।  आपको बता दें कि पकड़े गए आरोपी की जानकारी के आधार पर पुलिस ने बाकी बचे आरोपितों को पकड़ने के लिए उनके घर पर दबिश दी।

दबिश के दौरान आरोपितों ने 8 से 10 अन्य साथियों के साथ मिल कर पुलिस पर जानलेवा हमला बोल दिया। हमले के दौरान एक पुलिस कर्मी गंभीर रूप से घायल हो गया। इस दौरान पकड़ा गया तौफीक मौका तलाश कर भागने में सफल रहा। पथराव के बीच पुलिस ने एक अन्य हसीन नाम के गौ तस्कर को दबोच लिया।  वहीं थाना प्रभारी अरविन्द कुमार ने बताया कि एक आरोपित की गिरफ्तारी के साथ 1 बाइक और बोरियों में बंद गौ माँस बरामद किया गया है।

साथ ही लगभग 1 दर्जन से अधिक अन्य नामजद आरोपितों पर सरकारी काम में बाधा डालने, पुलिस पर जानलेवा हमला करने और CS  एक्ट के तहत केस दर्ज किया गया है। फिलहाल फरार गौ तस्करों की तलाश की जा रही है।

Previous articleआखिर नसबंदी की जिम्मेवारी भी महिलाओं पर क्यों ?
Next articleयूक्रेन-रूस युद्ध से पैदा हुए संकट से दुनिया का सबसे बड़ा लोकतंत्र भारत (India) भी अछूता नहीं रह सकता

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here