Home Religion 70 करोड़ से भी ज्यादा ईटों से तैयार किया गया है राष्ट्रपति...

70 करोड़ से भी ज्यादा ईटों से तैयार किया गया है राष्ट्रपति भवन

881
0

70 करोड़ से भी ज्यादा ईटों से तैयार किया गया है राष्ट्रपति भवन

राष्ट्रपति भवन, जो आजादी से पहले ‘वायसराय हाउस’ हुआ करता था, अब हमारे देश के राष्ट्रपति का घर है। 130 हेक्टेयर की इस संपत्ति में मुगल गार्डन के साथ रेजिडेंस स्टाफ और कई अन्य कार्यालय भी शामिल हैं। राष्ट्रपति भवन सिर्फ राजनितिक चीजों के लिए ही नहीं, लोगों के देखने के लिए, सैर करने के लिए भी खोला गया। सरकार ने यात्रा को पहले से बुक करने के लिए वेबसाइट भी बनाई है, जिससे आप यहां के भ्रमण के लिए पहले से बुक कर सकते हैं। चलिए आज हम आपको राष्ट्रपति भवन से जुड़ी कुछ दिलचस्प बातों के बारे में बताते हैं, जिनके बारे में आपको शायद ही पता होगा।

राष्ट्रपति भवन जो राष्ट्रपति के निवास के रूप में भी जाना जाता है, इटली के रोम में मौजूद क्यूरनल पैलेस के बाद दुनिया की दूसरी सबसे बड़ी जगह है, जिसमें स्टाफ रूम समेत 300 से ज्यादा कमरे हैं।

राष्ट्रपति भवन को 17 साल की अवधि में पूरा किया गया था। निर्माण में 29,000 से अधिक श्रमिक शामिल थे, जिसमें 70 करोड़ ईंटों और 30 लाख घन फीट पत्थरों का उपयोग किया गया था। राष्ट्रपति पैलेस को रायसीना हिल्स पर बनाया गया है। इन पहाड़ियों का नाम दो गांवों – रायसिनी और मालचा के नाम पर रखा गया है – जिन्हें भारत के वायसराय के महल के निर्माण के लिए हटा दिया गया था।
हर साल फरवरी के महीने में राष्ट्रपति भवन के पीछे बने मुगल गार्डन को उद्यानोत्सव के त्योहार के दौरान प्रदर्शित किया जाता है। मुगल गार्डन में फूलों की 100 से अधिक किस्में हैं।

बैंक्वेट हॉल में एक बार में 104 मेहमानों के बैठने की जगह है। यहां संगीतकारों के लिए एक गुप्त गैलरी भी बनाई गई है। बैंक्वेट हॉल में लाइट सिस्टम भी काफी स्मार्ट तरीके से बनाया गया है। पूर्व राष्ट्रपतियों के चित्रों के ऊपर लाइट होने की एक वजह ये भी है कि यह कर्मचारियों के लिए एक संकेत देती है कि कब आपको यहां साफ-सफाई करनी है, कब कक्ष साफ करना है।

दरबार हॉल में गौतम बुद्ध की मूर्ति है, जो चौथी शताब्दी की है। जिस स्तर पर इसे बनाया गया है वह इंडिया गेट की ऊंचाई के बराबर है। राष्ट्रपति भवन के मार्बल हॉल में वायसरॉय और ब्रिटिश राजपरिवार के कुछ चित्र और मूर्तियां रखी हुई हैं। यहां पूर्व राष्ट्रपति श्री प्रणब मुखर्जी की मोम की प्रतिमा भी रखी हुई है। इस प्रतिमा को आसनसोल कलाकर ने तैयार किया था।

Previous articleनोडल अधिकारी नागेंद्र प्रताप सिंह ने दो अस्थाई गौ आश्रय स्थलों का किया निरीक्षण
Next articleपीएम नरेन्द्र मोदी बोले- यूपीए के कार्यकाल की तुलना में हमारी सरकार में महंगाई कम हुई

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here