Home Gau Samachar क्रूरता : 20 की क्षमता वाले कंटेनर में ठूंस-ठूंसकर भरे थे 57...

क्रूरता : 20 की क्षमता वाले कंटेनर में ठूंस-ठूंसकर भरे थे 57 से ज्यादा गौ वंश, 40 मृत मिले

कुरावर के पीलूखेड़ी के सामने रुकवाए कंटेनर में निकला गौ वंश, भोपाल की और ले जा रहे थे

302
0
राजगढ़ (कुरावर).जिले में पशु क्रूरता और तश्करी के मामले में अंकुश नहीं लग पा रहा है। बाहरी जिलों से आने वाले वाहनों की आवाजाही थम नहीं रही। गुरुवार को ऐसा ही एक कंटेनर ग्रामीणों की मदद से कुरावर पुलिस ने पकड़ा। जिसमें क्रूरता पूर्वक 50 से अधिक गौ वंश भरे थे। 20 की क्षमता वाले कंटेनर में पार्टिशन बनाकर उन्हें ठूंस-ठूंसकर भरा गया था, जिससे करीब 40 गौ वंश मृत मिले।

कुरावर थाने की एसआई गुंजा सौलंकी ने बताया कि हमें मौके से कंटेनर मिला है, जिसमें से ग्रामीणों की मदद से गौ वंश को निकाला जा रहा है। ब्यावरा की और से यह आ रहा था, कहां जा रहा था यह फिलहाल स्पष्ट नहीं है। प्राथमिक जानकारी के अनुसार करीब 40 गौ वंश (बैल) कंटेनर में से मृत निकले हैं। कुल 57 इसमें इसमें ठूंस-ठूंसकर भरे थे। कंटेनर पूरी तरह से पैक होने के कारण उन्हें हवा तक नहीं मिल पा रही थी।

ग्रामीणों ने जब इसे देखा दो संदेह हुआ और ट्रक रुकवाया, इसके बाद पुलिस को सूचना दी। तब जाकर पता चला कि इसमें क्रूरता पूर्वक केड़ों को भरा गया था।

पीलूखेड़ी की ओसवाल डैनिम फैक्ट्री के सामने एक पेट्रोल पंप के पास उसे रुकवाया तो हकीकत सामने आई। देर शाम तक पुलिस ने गाड़ी खाली कराई और पीलूखेड़ी की ही एक फैक्ट्री के परिसर में रखा गया। पुलिस का कहना है कि ड्राइवर सहित दो अन्य आरोपी पकड़ में आ चुके हैं, एक अन्य फरार है।

उनका कहना है कि उसे राजस्थान बॉर्डर पर यह गाड़ी लाकर दी गई थी। बाकि की पूछताछ पुलिस कर रही है, जिसमें पूरा विवरण सामने आएगा। बता दें कि जिले में पशु तस्करी का यह पहला मामला नहीं है। इससे पहले सारंगपुर में सिलसिलेवार ऐसे मामले हुए, जिनमें लगातार अवैध रूप से परिवरहन कर पशुओं को ले जाए जा रहे कंटेनर और वाहनों को पकड़ा था। पुलिस पूरे मामले की तफ्तीश में लगी हुई है।

Previous articleBharatpur Police Encounter: गौ तस्करों के साथ पुलिस की मुठभेड़, कंटेनर से 24 गौवंश मुक्त, चालक गिरफ्तार
Next articleअसम: शिवसेना नेता एकनाथ शिंदे अन्य विधायकों के साथ गुवाहाटी के रेडिसन ब्लू होटल में

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here