Home News दक्षिण एशिया के पत्रकारों का संगठन ‘सारा’ के राष्ट्रीय संयुक्त सचिव पद...

दक्षिण एशिया के पत्रकारों का संगठन ‘सारा’ के राष्ट्रीय संयुक्त सचिव पद पर जीतु सोमपुरा की नियुक्ति

223
0

दीव। समग्र दक्षिण एशिया के देशों के पत्रकारों के हित में विभिन्न कार्य करने के लिए स्थापित किये गए साउथ एशिया रिपोर्टर्स एसोसिएशन (सारा) के राष्ट्रीय संयुक्त सचिव पद पर पत्रकार जीतु सोमपुरा को नियुक्त किया गया है। इसकी घोषणा संस्था के अध्यक्ष डॉ. सीमा बेन पटेल ने एक समारोह में की थी।
दीव में विशेष पत्रकारों के सम्मान हेतू आयोजित पत्रकार रत्न एक्सेलेंस अवॉर्ड समारोह के अध्यक्ष पद पर दीव के मेयर हेमलता बेन सोलंकी तथा अतिथि विशेष पद पर पूर्व केबिनेट मंत्री धारासभ्य जवाहर भाई चावड़ा उपस्थित थे। इस अवसर पर सुख शांति समृद्धि धार्मिक पत्रिका के संपादक जीतु भाई सोमपुरा को पत्रकार रत्न अवॉर्ड देकर सम्मानित किया गया।
पत्रकारिता के इतिहास में धर्मक्षेत्र में सर्व प्रथम 65 साल के जीतु सोमपुरा ने विशेष योगदान दिया है।
18 साल से अधिक समय तक मुंबई के जन्मभूमि प्रवासी दैनिक में संतो और पाठकों के बिच धर्म सेतू के निर्माण में अनोखी भूमिका निभाकर समाज के समक्ष प्रेरणा का उत्तम उदाहरण प्रस्तुत किया।
धार्मिक पत्रकारिता के साथ साथ 6 गुजराती फिल्म और टीवी सीरीयल का लेखन किया। एक फिल्म को गुजरात सरकार का श्रेष्ठ पटकथा लेखक का अवॉर्ड मिला।
फिल्म टीवी क्षेत्र को त्याग कर धार्मिक पत्रकारिता में संतो और पाठकों के बिच प्रेरणा सेतू के निर्माण में अपना योगदान देने पर ध्यान केंद्रित किया।
गुजराती चैनल गुर्जरी में धार्मिक कार्यक्रमों के प्रमुख पद से दिन रात की मेहनत की वजह से गुर्जरी चैनल ने अंतरराष्ट्रीय स्तर पर धर्म क्षेत्र में लोकप्रियता हासिल की।
गुजराती गुर्जरी चैनल की पांच साल की सफलता से प्रेरणा लेकर आरंभ हुई हिंदी धार्मिक चैनल आस्था और संस्कार चैनल में विशेष योगदान दिया।
जीतु सोमपुरा जी की धर्मयात्रा में देश की प्रथम IPTV ज्ञान चैनल तथा ब्रह्माकुमारी की पीस ऑफ माइंड चैनल का भी समावेश है।
धार्मिक पत्रकारिता की यात्रा के दौरान उन्होंने गुजराती भजनों के 50 घंटे का वीडियो इतिहास तथा हिंदी में चार सौ से ज्यादा प्रेरणात्मक कार्यक्रमों का निर्माण किया है।
उन्होंने पूज्य प्रमुख स्वामी महाराज की मुलाकात पर आधारित अक्षर संवाद पुस्तक समेत कुल 4 धार्मिक पुस्तक लिखे हैं।
वर्तमान में वे धार्मिक सुख शांति समृद्धि हिंदी पत्रिका के संपादक हैं। संतो के जीवन तथा आश्रमों द्वारा हो रही लोक सेवा पर आधारित लघु दस्तावेजी चलचित्रों का निर्माण करते रहते हैं।
अब तक पत्रकार जितु सोमपुरा को समग्र जीवनकाल के दौरान धार्मिक पत्रकारिता क्षेत्र में दिए हुए योगदान के लिए कुल पाँच अवॉर्ड मिले हैं।

Previous articleयूपी लेखपाल परीक्षा में धांधली को लेकर STF की बड़ी कार्रवाई, अबतक 23 लोग गिरफ्तार
Next article9 बिल्डर को 47 एकड़ जमीन बेच ₹1034 करोड़ बनाए -संजय राउत क्यों गिरफ्तार ?

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here