Home News सीसीएल का अपना पहला मुकाबला नहीं बचा पाए भारत राइजिंग के भोजपुरी...

सीसीएल का अपना पहला मुकाबला नहीं बचा पाए भारत राइजिंग के भोजपुरी दबंग्स 

63
0

अभी पिछले साल के ख़िताबी मुकाबले के घाव ताजा ही थे कि सीसीएल के दसवें संस्करण से भारत राइजिंग के भोजपुरी दबंग्स के लिए पहले मुकाबले से भी अच्छी ख़बर नहीं आई है। दुबई के शारजाह में खेले जा रहे पहले मुकाबले में मनोज तिवारी के नेतृत्व में भोजपुरी दबंग्स गत चैम्पियन तेलुगु वारियर्स से यह मुकाबला 8 रनों से हार गई है। टॉस हारकर पहले बल्लेबाजी करते हुए तेलुगु वारियर्स ने अपनी पहली पारी में तीन विकेट के नुकसान पर 94 रन बनाए। जवाब में मनोज तिवारी 38 रनों (रिटार्यड हर्ट) और आदित्य ओझा की 43 रनों की उपयोगी पारियों की बदौलत भारत राइजिंग वाले भोजपुरी दबंग्स ने अपनी पहली पारी में चार विकेट के नुकसान पर 103 रन बना डाले और इस तरह से तेलुगु वारियर्स पर 9 रनों की बढ़त बना लिया था। टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करते हुए पहली पारी में बढ़त लेकर अपने इस प्रदर्शन से भोजपुरी दबंग्स का खेमा उत्साहित था क्योंकि इन्हें पहली पारी के आधार पर जो 9 रनों की बढ़त मिल गई थी, लेकिन भोजपुरी दबंग्स की यह खुशी अधिक देर तक कायम नहीं रह सकी, क्योंकि अब तेलुगु वारियर्स ने अपनी दूसरी पारी में धमाकेदार प्रदर्शन करते हुए 118 रन बना दिया और फिर भोजपुरी दबंग्स पर दबाव बनाते हुए उनके सामने जीत के लिए 110 रनों का भारी भरकम टारगेट सेट कर दिया। 10 ओवर में 110 रनों के टारगेट के दबाव में भोजपुरी दबंग्स की शुरुआत बेहद खराब हुई। जहां भोजपुरी दबंग्स के लिए दूसरी पारी की शुरुआत में विकेट जल्दी गिर जाने के कारण ही भारी गड़बड़ हो गई। भारत राइजिंग भोजपुरी दबंग्स के दो विकेट 5 रनों के अंदर निकल जाने के बाद पारी सम्भालने में लगे आदित्य ओझा नाबाद 46 रन और असगर खान नाबाद 40 रन ने मोर्चा संभाल लिया था। लेकिन भारी टारगेट और कम ओवर के दबाव के आगे इनकी मेहनत भी बेकार गई , और भोजपुरी दबंग्स अपनी दूसरी पारी में कुल 2 विकेट के नुकसान पर 101 रन ही बना पाई , और अपना पहला मुकाबला 8 रनों से हार गई। वहीं तेलुगु वारियर्स की तरफ से आज अश्विन बाबू ने शानदार ऑल राउंडर खेल दिखाते हुए इस मैच में अर्धशतक लगाकर अपनी टीम को जीत दिलाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। उन्होंने गेंदबाजी करते हुए अपनी टीम के लिए महत्वपूर्ण दो विकेट भी चटकाए।

भारत राइजिंग के राहुल मिश्रा बताते हैं कि सीसीएल एक मात्र क्रिकेट का ऐसा संस्करण है जिसमें 20 ओवर के मैच में ही दोनों टीमो को 10-10 ओवर्स की दो इनिंग्स खेलने का मौका मिलता है। क्रिकेट का यह प्रारूप अपनेआप में बेहद रोमांचक और मनोरंजन से भरपूर रहता है जहां आप अपने फिल्मी सितारों को एक दूसरे के साथ और एक दूसरे के खिलाफ क्रिकेट के मैदान में प्रतिस्पर्धा करते हुए देखते हैं । आज भोजपुरी दबंग्स के साथ तेलुगु वारियर्स के मुकाबले में भी दो संस्कृतियों का मिलन था। जहां एक तरफ शुद्ध देशी वातावरण में रहने वाले अपनी देशज भाषा और खान पान के लिए मशहूर भारत राइजिंग वाली भोजपुरी दबंग्स की टीम थी, जिसके ऑनर भी भोजपुरी से प्रेम करने वाले कनिष्क शील, सुशील मलिक, सुशील शर्मा,और राहुल मिश्रा हैं, वहीं दूसरी तरफ प्राचीन भारत की समृद्ध परम्पराओं को पुनर्जीवित करने वाली तेनालीरामन की धरती के योद्धा तेलुगु वारियर्स के रूप में आज मैदान में थे। गत साल और इस तरह से 4 बार सीसीएल का खिताब जीत चुके तेलुगु वारियर्स ने अपने पिछले साल भी ख़िताबी मुकाबले में भोजपुरी दबंग्स को हराकर ये ट्रॉफी जीते थे। दुबई में हुए इस हाई वोल्टेज सीसीएल मैच में भोजपुरी दबंग्स को चीयर करने के लिए इनकी महिला ब्रांड एम्बेसडर पाखी हेगड़े, आम्रपाली दुबे, शुभी शर्मा, नीलम गिरी, माही खान, रक्षा गुप्ता मौजूद रहीं।

Previous articleउत्तराखण्ड News – नशा न मात्र व्यक्ति, परिवार बल्कि समूचे सामाजिक परिवेश को करता है प्रभावित -मुख्यमंत्री धामी,
Next articleइंडियन गोल्डन अवार्ड 2024 से सम्मानित हुए डॉ निकेश जैन माधानी 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here